बलिदान

Courage Agniveer

हजारों आवाजें एक साथ उठ रही थीं- अपना धर्म छोड़ दे। पर शेर अकम्प खड़ा था। माता की आँख में आंसू थे। उसने माँ के आंसू पोंछे। जल्लाद के आगे सर तान लिया, अगले ही पल वो पावन सर मातृभूमि की गोद में था। बालक मर चुका था पर धर्म जी उठा था। ये था हकीकत राय का अमर बलिदान।

फिल्म हैदर- एक फौजी की नजर में

India Kashmir

फिल्म हैदर एक फौजी के नजरिये से! जिसने कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ते हुए अपना हाथ खोया और कई दोस्त खोये। पर फिर भी देश के लिए प्यार और जज्बा नहीं खोया।

मनुस्मृति और दंडविधान

Manusmrit and Shudra

क्या मनुस्मृति में शूद्रों के लिए कठोर दंड का विधान है ? क्यों मनुस्मृति आधारित दंड व्यवस्था ही देश में से भ्रष्टाचार दूर करने का उत्तम मार्ग है ? जानने के लिए पढ़े !

मादर ए वतन

महाराणा प्रताप जयंती पर अग्निवीर की तुच्छ भेंट. हिन्दुस्तान के हजार साल के स्वतंत्रता संग्राम के कुछ न मिटाए जा सकने वाले पन्ने इस छोटी सी कविता में. पढ़ें और प्रचार करें!

माँ

Mother

मेरी भी नहीं तेरी भी नहीं वो तो होती सबकी सांझी माँ
ना हिंदू की ना मुस्लिम की माँ तो बस एक होती है माँ

बचपन और जवानी

बचपन-और-जवानी

जवानी आयी और बचपन विदा हो गया! पर जाते जाते बचपन कुछ कह गया! बचपन की जवानी को सीख, इस कविता में.

तुलादान

Rukmini and Krishna

श्रीकृष्ण और उनकी पत्नी रुक्मिणी के वैवाहिक जीवन की एक घटना का काव्य रूपांतरण। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर अग्निवीर की यह भेंट!

हवन की महिमा

Krishna performing Agnihotra

हवन क्या है? अपने जीवन को उजले कर्मों से और चमकाने का संकल्प! अपने सब पाप, छल, विफलता, रोग, झूठ, दुर्भाग्य आदि को इस दिव्य अग्नि में जला डालने का संकल्प! हर नए दिन में एक नयी उड़ान भरने का संकल्प, हर नयी रात में नए सपने देखने का संकल्प! उस ईश्वर रूपी अग्नि में खुद को आहुति बनाके उसका हो जाने का संकल्प, उस दिव्य लौ में अपनी लौ लगाने का संकल्प और इस संसार के दुखों से छूट कर अग्नि के समान ऊपर उठ मुक्त होने का संकल्प! हवन मेरी सफलता का आर्ग है. हवन मेरी मुक्ति का मार्ग है, ईश्वर से मिलाने का मार्ग है.