मादर ए वतन

महाराणा प्रताप जयंती पर अग्निवीर की तुच्छ भेंट. हिन्दुस्तान के हजार साल के स्वतंत्रता संग्राम के कुछ न मिटाए जा सकने वाले पन्ने इस छोटी सी कविता में. पढ़ें और प्रचार करें!

माँ

Mother

मेरी भी नहीं तेरी भी नहीं वो तो होती सबकी सांझी माँ
ना हिंदू की ना मुस्लिम की माँ तो बस एक होती है माँ

बचपन और जवानी

बचपन-और-जवानी

जवानी आयी और बचपन विदा हो गया! पर जाते जाते बचपन कुछ कह गया! बचपन की जवानी को सीख, इस कविता में.

तुलादान

Rukmini and Krishna

श्रीकृष्ण और उनकी पत्नी रुक्मिणी के वैवाहिक जीवन की एक घटना का काव्य रूपांतरण। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर अग्निवीर की यह भेंट!

महाराणा प्रताप

Rana Pratap

महाराणा प्रताप के जीवन की कुछ घटनाएं इस कविता में हैं। भारत माँ के कुछ दमदार पुत्र ऐसे हैं जिन्होंने विपत्ति के समय में भी दुनिया में इस देश का नाम गुंजाये रखा। महाराणा प्रताप ऐसा ही एक नाम है।

ध्वजा ओम की!

पूरे संसार को श्रेष्ठ बनाने का संकल्प. व्यर्थ के जाति बंधन तोड़ कर मानव मात्र को एक करने का संकल्प. महान कवि और दार्शनिक पंडित चमूपति की अमर कृति!