केरल में आईएसआईएस के ६ आतंकी गिरफ्तार और कुछ सुलगते सवाल

१.वे किस किताब से प्रेरित थे?

२.उनका आदर्श कौन है?

३.वे किस मजहब से ताल्लुक रखते हैं?

इन सवालों के जवाब दे कर इन मुद्दों पर छोटा-सा सर्जिकल स्ट्राइक करें। जवाब हैं –

१. अंग्रेजी या मलयालम में अनुवादित कुरान

. पैगम्बर मुहम्मद

३.  इस्लाम

और जो कोई इन सवालों से वचने की कोशिश करे वह या तो

खुद संभाव्य आतंकी है,

या

आतंकियों का हमदर्द है,

या

आतंकियों का मूक समर्थक है,

या

जानबूझकर अन्धा बन परिस्थिति से मुंह मोड़ने वाला है।

ऐसा क्यों है कि कुरान, मुहम्मद और इस्लाम के नाम पर आसानीसे लोगों के दिमाग दूषित किये जा सकते हैं, उन्हें भड़काया जा सकता है, लेकिन, गीता/गुरु ग्रन्थ साहिब/धम्म पद, कृष्ण/गुरु नानक/बुद्ध इत्यादि के नाम पर ऐसा नहीं हो सकता?

आजतक विश्व में ऐसा क्यों नहीं हुआ कि कोई सेना गीता के श्लोक बोलते हुए शहरों-नगरों को लूटती-उजाडती फिरी हो, स्त्रियों को निर्वस्त्र करती रही हो और बच्चों को गुलाम बनाती हो?

जबकि, बिन कासिम, गोरी, गज़नी, तैमूर, बाबर, खिलज़ी, औरंगजेब, टीपू, अब्दाली, अल कायदा और आईएसआईएस की सेनाएं हमेशा काफिरों के शहरों में नरसंहार के लिए घुसने से पहले ‘अल्लाहु अकबर’ का नारा लगाती थीं और लगाती हैं?

क्यों भारतीय सेना का आदर्श वाक्य – ‘भारत माता की जय’ है? जबकि, पाकिस्तान का – ‘अल-जिहाद (गैर-मुस्लिमों के खिलाफ़ युद्ध) है?

ऐसा क्यों है कि हिन्दू, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी और अन्य सभी – समान नागरिक कानून का पालन करते हैं जबकि मुस्लिमों का अपना अलग ही शरिया कानून है?

इन सब का जवाब है – क्योंकि इस्लाम के मूल में गड़बड़ है।

और इसे सभी भारतियों को स्वीकार करना होगा, चाहे वो आम लोग हों, शासक या उच्च वर्ग हो या सेना।

आप समस्या का निराकरण तब तक नहीं कर सकते, जब तक कि आप उसकी जड़ तक न पहुंचें।

पिछले हज़ार साल में, हम लाखों निरपराध स्त्री, पुरुष, बच्चे और लाखों वर्गमील का इलाका जिहाद की भेंट चढ़ा चुके हैं। यह उसी राजनैतिक औचित्य या पॉलिटिकल करेक्टनेस की बड़ी कीमत है जिसका हम गुणगान करते रहते हैं।

अब समय आ गया है कि भारतवर्ष में नई सुरक्षा प्रणाली बने।

प्रधानमंत्री श्री. नरेंद्र मोदी, श्री. अजित डोवाल और सभी सम्बंधित अधिकारी इस अंदरूनी खतरों का खात्मा करने का संकल्प ले। और इसके लिए आवश्यकता है हर घडी, हर क्षण और हर रूप में सूक्ष्म और तीव्र सर्जिकल स्ट्राइक करने की – कानूनन, कानून के अमल द्वारा, जागरूकता फैला कर, शक्तिपूर्वक, आक्रामकतापूर्वक और इच्छाशक्ति जगाकर।

और आवश्यकता है राष्ट्र सबसे पहले” – यह दृष्टिकोण बनाए रखने की।

अग्निवीर भारत मां की सेवा में सदैव तत्पर है।

मां भारती के चरणों में हमारी बुद्धि सदैव समर्पित है।

24×7 तैयार। हरदम भारत की सुरक्षा संस्थाओं के साथ।

वन्दे मातरम्

जय हिन्द

भारत माता की जय

 

For original english version: To PROTECT Your Children from Terrorists, You MUST Solve these Problems TODAY

 

Facebook Comments

Liked the post? Make a contribution and help bring change.

Disclaimer: By Quran and Hadiths, we do not refer to their original meanings. We only refer to interpretations made by fanatics and terrorists to justify their kill and rape. We highly respect the original Quran, Hadiths and their creators. We also respect Muslim heroes like APJ Abdul Kalam who are our role models. Our fight is against those who misinterpret them and malign Islam by associating it with terrorism. For example, Mughals, ISIS, Al Qaeda, and every other person who justifies sex-slavery, rape of daughter-in-law and other heinous acts. For full disclaimer, visit "Please read this" in Top and Footer Menu.

1 COMMENT

  1. If you want to know why there is no islamic terrorism in China, Russia, Japan it is just because these countries realized the truth of radical islam long ago and made those policies that suppress islam to instigate violence. On the other hand, India govt has always made those policies that appease and provide atmosphere to radical islam. That’s the reason there is article 370, and no uniform civil code in India. The easiest solution is that govt must change its policies.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here