संस्कृतशिक्षण_13

नमः संस्कृताय मित्रों ! संस्कृतभाषा की वाक्यरचना हिन्दी से बहुत भिन्न है, यह बात आपको सदैव याद रखनी चाहिए। हिन्दी में अपादान कारक को छोड़कर...

संस्कृतशिक्षण_12

अभ्यास : ~~~~~~ तद् और एतद् के रूपों का वाक्यों में प्रयोग। दोनों सर्वनामों के रूप तीनों लिंगों में याद करिये।तद् = दूर स्थित व्यक्ति-वस्तु एतद् =...

संस्कृतशिक्षण_11

नमः संस्कृताय ! आज आपको अस्मद् ( मैं ) और युष्मद् ( तुम ) सर्वनामों के रूप बताएँगे और इनका वाक्यों में अभ्यास भी करवायेंगे।...

संस्कृतशिक्षण_10

नमः संस्कृताय !! कल आपने 'सर्वनाम विशेषण' के विषय में जाना और तद् , एतद्, यद् और किम् के रूप भी जान लिये। मुझे आभास...

संस्कृतशिक्षण_9

संस्कृत को जनभाषा बनाने के लिए सदैव तत्पर... अग्निवीर सरल विधि से संस्कृत सीखिए और अपने महान् अतीत को जानिये।

संस्कृतशिक्षण_7

संस्कृत को जनभाषा बनाने के लिए सदैव तत्पर... अग्निवीर सरल विधि से संस्कृत सीखिए और अपने महान् अतीत को जानिये।

संस्कृतशिक्षण_8

संस्कृत को जनभाषा बनाने के लिए सदैव तत्पर... अग्निवीर सरल विधि से संस्कृत सीखिए और अपने महान् अतीत को जानिये।

संस्कृतशिक्षण_6

संस्कृत को जनभाषा बनाने के लिए सदैव तत्पर... अग्निवीर सरल विधि से संस्कृत सीखिए और अपने महान् अतीत को जानिये।

संस्कृतशिक्षण_5

सुधी मित्रों ! नमः संस्कृताय !! कल के पाठ में आपने वाक्य में कारकों को पहचान कर उनमें विभक्तियाँ लगाना सीखा। आशा करता हूँ कि...

संस्कृतशिक्षण_4

सभी सुधी मित्रों को प्यार भरा नमस्कार ! कल हमने आपको कारकों के विषय में समझाया था। आशा करता हूँ कि कर्त्ता, कर्म आदि कारकों...

Pin It on Pinterest